केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के बारे में

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल 27 जुलाई 1939 को क्राउन रिप्रेजेन्टेटिव के पुलिस के रूप में अस्तित्व में आया जो 28 दिसंबर 1949 को सीआरपीएफ अधिनियम के लागू होने पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल बन गया । केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल गौरवशाली इतिहास के 82 वर्ष पूरे कर चुका है | यह बल 246 बटालियनों (203 जी डी बटालियन, 05 वी आई पी सुरक्षा बटालियन, 06 महिला बटालियन, 15 आर.ए.एफ. बटालियन, 10 कोबरा बटालियन, 05 बेतार बटालियन, 01 विशेष ड्यूटी ग्रुप और 1 संसदीय ड्यूटी ग्रुप), 43 ग्रुप केंद्रों, 22 प्रशिक्षण संस्थानों, 03 सी.डब्ल्‍यू.एस., 07 ए.डब्‍ल्‍यू.एस., 03 एस.डब्‍ल्‍यू.एस., 100 बिस्तरे वाले 04 संयुक्त अस्पतालों और 50 बिस्तरे वाले 18 संयुक्त अस्पतालों एवं 06 फील्ड अस्पतालों के गठन से बना हुआ एक बड़ा संगठन है।

ध्येय (मिशन)

केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल का ध्येय है कि वह संविधान को सर्वोपरि बनाये रखते हुए, प्रभावशाली एवं दक्षतापूर्ण तरीके से विधि-व्यवस्था, लोक व्यवस्था एवं आन्तरिक सुरक्षा को कायम रखने में सरकार को समर्थ बनाये, ताकि राष्ट्रीय-अखण्डता अक्षुण्ण बनी रहे और सामाजिक-सौहार्द तथा विकास का मार्ग प्रशस्त हो|

Pause
View All
View All

निविदाएं

Pause
View All

वीडियो गैलरी

Go to Navigation